Thursday, August 30, 2007

मुझे क्षमा करें

मैं माफी माँगता हूँ

मेरी चवन्नी से जुड़ी टिप्पणी से कुछ लोगों को दुख हुआ है। मैं उसके लिए माफी मांगता हूँ। मेरा इरादा किसी को कष्ट देने का नहीं था। हो सके तो आप सब मुझे क्षमा कर दें।

5 comments:

Udan Tashtari said...

अरे भाई, क्या हुआ? हमें तो कुछ ऐसा लगा नहीं. काहे नाहक परेशान हो रहे हैं?

अभिनव said...

एसा तो कुछ भी नहीं था माफी मांगने लायक.

chavanni said...

भाई,ये चवन्नी का क्या मामला है...जरा मुझे भी पढ़ाएं.

यशवंत सिंह said...

भड़ास पर जो कुछ छपा, उसके लिए मैं सभी भड़ासियों की तरफ से माफी मांगता हूं। उम्मीद है बोधिसत्व जी अन्यथा नहीं लेंगे और अपना प्यार बनाए रखेंगे। उनके लिए भड़ासियों के मन में सम्मान और बढ़ गया है जिन्होंने किसी के उकसावे वाली कार्रवाई के बावजूद पूरी विनम्रता से न सिर्फ अपना पक्ष रखा बल्कि किसी को भी दुख पहुंचने की तनिक आशंका के चलते अपना पोस्ट भी हटा लिया। एक बार फिर क्षमा याचना के साथ....
यशवंत सिंह
yashwantdelhi@gmail.com
http://bhadas.blogspot.com

बोधिसत्व said...

प्रिय यशवंत
मैंने सचमुच में किसी को ठेस न पहुँचाने के इरादे से ही लिखा था।
चलो बात बिगड़ने के पहले बन गई
मस्त रहो और दोस्तों से कहो कि हमारे जैसे लोंगो की बातों पर बहुत ध्यान ना दें
तुम्हारा
बोधिसत्व